✽ रोजाना नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ ✽

मामा के लड़के की साली की नंगी जवानी

0
loading...

प्रेषक :- योगेन्द्र…

हाय फ्रेंड्स, मेरा नाम योगेन्द्र है, मेरी उम्र 32 साल की है, मैं अम्बाला का रहने वाला हूँ और मैं एक शादीशुदा आदमी हूँ और मेरा दो बच्चे भी है मेरा रेडीमेड गारमेंट्स का बिजनस है और मैं मार्केटिंग का काम करता हूँ. जब भी कोई नया प्रोडक्ट आता है तो मुझको उसकी मार्केटिंग करने के लिये मार्केट में और दूसरे शहरों में भी जाना पड़ता है. हाँ तो दोस्तों मैं आज आप सभी के लिये कामलीला डॉट कॉम पर एक बहुत ही प्यारी सेक्स कहानी को लेकर आप सभी के सामने हाज़िर हूँ. दोस्तों मैं इस वेबसाइट पर एकदम नया हूँ तो मेरी इस कहानी में कोई गलती हो जाए तो आप सभी मुझको नया समझकर माफ कर देना।

हाँ तो दोस्तों अब मैं मेरे जीवन की वह घटना आप सभी को बताने जा रहा हूँ जिसमें मैंने सेक्स के भरपूर मजे लिये थे. और वह कहानी कुछ इस तरह से है।

दोस्तों एकबार मार्केट में कुछ नये प्रोडक्ट आए थे जिनकी मार्केटिंग और आर्डर के लिए मुझको चंडीगढ़ जाना पड़ा था और फिर मैं कुछ दिनों के लिये चंडीगढ़ चला गया था. और फिर मैं अपने प्रोडक्ट के सैम्पल को लेकर मार्केट में गया और फिर मैंने वहाँ से काफी सारे ऑर्डर भी लिए. दोस्तों वह लेडीज गारमेंट्स के सैम्पल थे जिनमें ब्रा, पैन्टी, और कुछ शॉर्ट् गाऊन थे. और फिर एक दिन मैं मार्केट में घूम रहा था तो एक दुकान पर सैम्पल दिखाकर वहाँ से निकल ही रहा था तो, मैंने देखा कि, वहाँ पर मेरे मामा के लड़के की साली कुछ अंडरगारमेंट देख रही थी. और उस समय मैंने उससे बात करना उचित नही समझा और मैं वहाँ से निकलने लगा ही था कि, उसने मुझको देख लिया था. और फिर हमने आपस में मिलकर बातें करी और फिर उसने मुझसे पूछा कि, आप यहाँ कैसे? तो मैंने उसको कहा कि, मैं तो इस दुकान पर अक्सर माल का आर्डर लेने आता रहता हूँ और फिर मैंने उसको अपने बिज़नस के बारे में बताया. तो फिर उसने मुझको कहा कि, फिर तो यह बहुत ही अच्छी बात है और फिर वह मुझसे कहने लगी कि, अब तो मुझको भी सब सामान कम दाम में मिल जाएगें, और फिर वह यह कहकर हँसने लगी. और फिर उसने मुझको उसको भी सैम्पल दिखाने को कहा. तो फिर मैंने उसको कहा कि, मैं यहाँ पर नहीं दिखा सकता हूँ क्योंकि यह मेरी ग्राहक की दुकान है. तो फिर उसने मुझको कहा कि, तो फिर हम कहीं और चलकर देख लेंगे. और फिर हम वहाँ से निकल गये थे. दोस्तों उसके पास गाड़ी थी तो उसने मुझको उसके साथ गाड़ी में बैठने को कहा. और फिर मैं उसकी गाड़ी में बैठा तो उसने मुझसे पूछा कि, आपको कहाँ पर जाना है?

तो फिर मैंने उसको अपने होटल का नाम बताया जहाँ पर मैं ठहरा हुआ था. और फिर उसने मुझको होटल तक लिफ्ट दी थी. और फिर होटल पहुँचकर मैंने उसको ऊपर मेरे कमरे में आने को कहा. तो फिर वह हँसकर मुझसे बोली कि, हाँ ठीक है चलो, आप मुझको आपके सैम्पल भी दिखा देना. और फिर हम मेरे कमरे में आ गए थे और फिर मैंने कोल्ड ड्रिंक्स का ऑर्डर दिया और फिर मैं उसको अंडरगारमेंट के सैम्पल दिखाने लगा. दोस्तों वह अंडरगारमेंट बहुत ही हॉट और सेक्सी थे उसको तो सब के सब ही बहुत पसन्द आ गए थे, तो फिर उसने मुझसे पूछा कि, कौनसा लूँ मुझको तो सभी बहुत पसन्द आ रहे है? तो फिर मैंने उसको कहा कि, आपको जो भी पसन्द हो आप ले लो. और फिर उसने मुझसे पूछा कि, मुझपर कौनसा वाला अच्छा लगेगा? तो मैंने उसको कहा कि, अब यह मैं कैसे बता सकता हूँ आपको? तो फिर उसने मुझसे कहा कि, अगर आप अपनी गर्लफ्रेंड को देते तो कौनसा वाला देते? तो फिर मैंने उससे पूछा कि, आपका साइज़ क्या है? तो उसने मुझसे कहा कि, शायद 32” या 34” की होगी. तो फिर मैंने उसको कहा कि, शायद आपको ठीक से याद नहीं है. तो फिर उसने मुझसे कहा कि, नहीं ठीक है. तो फिर मैंने उसको कहा कि, माप के देख लो. तो उसने मुझसे कहा कि, मैं कैसे मापू आप ही माप लीजिये. तो फिर मैंने मापने का इंचटेप निकाला और फिर उसके फिगर का साइज़ चेक किया तो उसकी साड़ी बीच में आ रही थी, तो उसने अपनी साड़ी का पल्लू नीचे किया. और फिर मैंने जब उसका माप लिया तो मेरे हाथ उसके बब्स को छूने लगे. और फिर जब मैं उसके पीछे गया तो उसने जानबूझकर अपनी गांड को पीछे किया जिससे मेरा लंड उसकी गांड को छूने लगा. और फिर उसका साइज़ 34” आया तो फिर मैंने एक सेक्सी सा अंडरगारमेंट का सेट निकालकर उसको दे दिया और फिर मैंने उसको कहा कि, लो यह पहनकर देखो और कैसी लगी मुझको भी बताना. और फिर वह मुझको अपने घर आने का निमंत्रण देकर मेरी तरफ मुस्कुराई।

loading...

और फिर मैंने उसको उसके घर रविवार को आने का कहा. और फिर शनिवार को उसका फ़ोन आया कि, मेरे पति कल सुबह किसी काम से दिल्ली जा रहे है और वह वहाँ से 2 दिन के बाद वापस आने वाले है तो आप भी कल सुबह आ जाना. और आप मेरे पति से भी मिल लेना. तो फिर मैंने उसको हाँ कहा और फिर अगले दिन रविवार को मैं उसके घर चला गया और फिर जब मैं वहाँ गया तो हमने उसके घर पर बैठकर ढेर सारी बातें करी और फिर खाना भी खाया फिर उसके पति के जाने का टाइम हो गया था तो फिर हम उसके पति को स्टेशन पर छोड़ने गए और फिर हमने उसके पति को ट्रेन में बैठाया और फिर हम वहाँ से वापस लौट आए थे. रास्ते में उसने मुझको फिल्म देखने के लिये कहा तो, मैंने उसको कहा कि, आपके पति को पता चल जाएगा तो वह क्या सोचेगा? तो फिर उसने मुझको कहा कि, उनको कहाँ से पता चलेगा मैं तो उनको नहीं बोलूँगी. और फिर उसने मुझको कहा कि, पहले घर चलते है और मैं अपने कपड़े बदल लेती हूँ और फिर हम फिल्म देखने चलेगें। और फिर हम उसके घर गये तो वह एक बहुत ही प्यारी और सेक्सी सी साड़ी पहनकर आई तो मैंने उसको देखा तो मैं तो उसको देखता ही रह गया था. और फिर वह मुझको होश में लाई और फिर उसने मुझको कहा कि, क्या हुआ? तो मैंने उसको कहा कि, कुछ नहीं बस ऐसे ही. और फिर उसने मुझको कहा कि, गाड़ी ले जाने से उसको खड़ी करने में दिक्कत होगी इसलिए हम सिटी बस से ही चलते है. और फिर हम बस स्टॉप पर गये तो वहाँ पर पहले से ही काफ़ी भीड़ थी तो मैंने उसको कहा कि, इतनी भीड़ में मैं आपको लेकर कैसे जाऊँगा? तो फिर वह मुझसे बोली कि, आप मेरे पीछे खड़े हो जाना. और फिर हम भीड़ में ही बस में चढ़ गए थे और वह मेरे आगे खड़ी थी जिससे मेरा लंड उसकी गांड में लग रहा था. और मेरा लंड उसको उसकी गांड में चुभने लगा जिसका उसको भी पता चल गया था कि, मेरा लंड खड़ा हो गया है लेकिन उसने मुझसे कुछ भी नहीं कहा और तो और वह खुद भी बार-बार पीछे मेरे लंड पर दबाव दे रही थी और फिर हम सिनेमा हॉल में पहुँचे तो वहाँ पर भी हमको सीट नहीं मिली तो फिर हमको वहाँ पर ऊपर बॉक्स की सीट लेनी पड़ी. दोस्तों वहाँ पर सिर्फ हम दोनों ही बैठे थे और बाकी सब लोग नीचे बैठे थे. और फिर कुछ देर के बाद फिल्म शुरू हो गई थी. और फिर उस फिल्म में एक गाना आया जिसमें काफी सेक्सी सीन थे जिनको देखकर मैं अपने खड़े हुए लंड को अपनी पेन्ट में ठीक करने लगा तो वह मुझको देखकर हँसने लग गई थी।

और फिर हम फिल्म देखने के बाद उसके घर आ गये थे तो उसने मुझको वापस से सैम्पल दिखाने को कहा, तो मैंने उसको सभी सैम्पल दिखाए तो उसने एक सेक्सी सा गाऊन देखते हुए मुझसे कहा कि, यह मुझको देना जरा. तो फिर मैंने उसको वह गाऊन दे दिया. तो फिर वह मुझसे बोली कि, मैं इसको पहनकर आती हूँ. और फिर वह उसको पहनकर मेरे सामने आई और फिर उसने मुझको उसका वह गाऊन ठीक से सेट करने को कहा तो फिर मैं उसके गाऊन को ठीक करने लगा तो बार-बार मेरे हाथ उसके बब्स पर लग रहे थे. और फिर मैंने उससे बातें करते हुए कहा कि, मैंने सुना है कि, आप डान्स बहुत अच्छा करती हो, और मुझको आज आपका डान्स देखना है. तो फिर वह मुझसे बोली कि, मैं आपको अपना डान्स ज़रूर दिखाऊँगी पर मेरी एक शर्त है कि, आपको भी डान्स में मेरा साथ देना पड़ेगा. और फिर उसने डान्स के लिए गाना बजाया और फिर वह मुझको भी अपने साथ में डान्स करवाने लग गई थी. दोस्तों मैं भी उसकी कमर को पकड़कर डान्स कर रहा था. दोस्तों उसका गाऊन शोर्ट होने के कारण उसकी कमर नंगी और चिकनी कमर पर मेरा हाथ चलने लग गया था. और कभी-कभी मेरा हाथ उसके सामने से तो कभी उसके पीछे से जाता तो मुझको उसके बब्स का स्पर्श मिल रहा था और कभी मैं उसके पीछे जाता तो उसकी गांड में मेरा लंड रगड़ खा रहा था जिससे उसको भी मज़ा आने लगा था। और फिर मैंने उसको अपनी गोद में उठा लिया था जिससे मेरा एक हाथ अब उसकी गांड पर और दूसरा हाथ उसके बब्स के एक साइड में चला गया था. और फिर 5 मिनट तक मैंने उसको ऐसे ही रखा. और फिर उसने मुझको कहा कि, प्लीज़ मुझको नीचे उतारो ना प्लीज़. तो फिर मैंने उसको नीचे उतार दिया था. और फिर मैं उसके पीछे खड़ा होकर उसके पेट को सहलाता रहा और मेरा लंड उसकी गांड पर रगड़ खाता रहा जिससे वह भी गरम हो गई थी. और फिर उसने मेरा लंड पकड़ लिया और फिर उसने मुझको कहा कि, यह तो मुझको आज सुबह से ही परेशान कर रहा है. तो फिर मैंने उसके बब्स को पकड़ते हुए कहा यह भी मुझको सुबह से ही तड़पा रहे है. तो फिर उसने मुझको कहा कि, जब हम दोनों ही तड़प रहे है तो इसका इलाज भी हम दोनों के पास ही है। और फिर उसने मुझको कहा कि, मेरे इलाज की दवा आपके पास है और आपके इलाज की दवा मेरे पास है, प्लीज़ अब जरा इसको बाहर निकालो. तो फिर मैंने झट से अपनी पेन्ट खोल दी थी और फिर उसने भी तुरन्त ही मेरे लंड को पकड़कर हिलाना शुरू कर दिया था. और फिर मैं उसके गाऊन को उतारकर उसके बब्स को दबाने लगा और चूसने भी लग गया था और मेरे ऐसा करने से वह आहहह… उहहह… करने लग गई थी, और फिर वह मेरे लंड को अपनी जीभ से चाटने भी लग गई थी।

और फिर वह मेरे लंड को अपने मुहँ में लेकर चूसने लग गई थी. और फिर पूरे 15-20 मिनट तक हमने एक-दूसरे की बॉडी को चूमने और चाटने का पूरा मज़ा लिया और फिर उसने मुझको कहा कि, अब मुझसे बिल्कुल भी सब्र नहीं हो रहा है, प्लीज़ अब डाल भी दो ना इसको मेरी चूत में. और फिर मैंने उसको बेड पर लेटा दिया था और फिर मैं अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा तो वह उसको अपनी चूत में लेने के लिये बार-बार झटके मार रही थी कि, मेरा लंड उसकी चूत में घुस जाए और वह कहती भी जा रही थी कि, प्लीज डाल दो ना आहहह… प्लीज़ अब मुझको और मत तड़पाओ. और फिर मैंने अपना लंड एक झटके के साथ उसकी चूत में डाला तो वह चिल्ला उठी थी. और फिर वह मुझसे कहने लगी कि, कितना मोटा लंड है तुम्हारा, मेरी तो अभी जान ही निकल गई थी. और 5-7 मिनट के बाद मैंने अपने धक्के थोड़े और तेज किए और वह भी उछल-उछलकर चुदाई का पूरा मजा ले रही थी। दोस्तों यह कहानी आप कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

दोस्तों मैंने उसको हर तरह से चोदा था और फिर उस 25-30 मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों का पानी एकसाथ ही निकल गया था. और फिर हम एक-दूसरे से चिपककर नंगे ही सो गए थे. और फिर 30 मिनट के बाद हम दोनों बाथरूम में एक साथ नहाए और फिर हमने वहाँ पर भी जी भरकर चुदाई का मज़ा लिया था. और फिर हम दोनों रात को नंगे ही सो गए थे और फिर सुबह एकबार फिर से हमने चुदाई का मज़ा लिया और फिर मैं वहाँ से चाय नाश्ता करके उसको एक किस देकर चला आया था.

धन्यवाद कामलीला के प्यारे पाठकों !!

Share.

Comments are closed.

error: